By : Abhishek mishra   |   29-07-2018    |    Views : 0005714



हथिनी कुंड बैराज के पानी का यमुना नगर में कहर, दोपहर बाद दिल्ली पर संकट


उत्तर भारत में मॉनसून ने धमाकेदार एंट्री ली है. मॉनसून की बारिश इतनी जबरदस्त हो रही है कि अब इसने आफत का रूप ले लिया है. देश की राजधानी दिल्ली पर बाढ़ का खतरा मंडरा रहा है. शनिवार शाम को ही दिल्ली में यमुना खतरे के निशान से 47 सेंटीमीटर ऊपर बह रही थी. रविवार सुबह 6 बजे दिल्ली में यमुना का जलस्तर 205.44 मीटर तक पहुंच गया है. उम्मीद जताई जा रही है कि दोपहर 3 बजे तक ये 205.65 मीटर तक पहुंच जाएगा. रविवार शाम तक दिल्ली के निचले इलाकों में बाढ़ का पानी घुसने का खतरा है. हरियाणा के हथिनी कुंड से 6 लाख क्यूसेक पानी छोड़े जाने के बाद शनिवार देर रात मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने एक इमरजेंसी मीटिंग बुलाई और बाढ़ से निपटने के इंतजामों का जायजा लिया. दिल्ली में बाढ़ से बचाव की तैयारियां चल रही हैं, यमुना से सटे निचले इलाकों में रहनेवाले लोगों को हटाया जा रहा है. लेकिन, हथिनी कुंड से छोड़े गए पानी से बाढ़ का ट्रेलर दिल्ली से करीब पौने दो सौ किलोमीटर दूर यमुनानगर में दिखा. वहां के कई इलाके पानी में डूब गए हैं, अब प्रशासन लोगों को यमुना से दूर रहने के लिए सतर्क कर रहा है.