By : Abhishek mishra   |   30-08-2018    |    Views : 0005666



इस राज्य में सर्पदंश से खौफ में सरकार, करा रही है 'सर्प यज्ञ'


उत्तर हो या दक्षिण, देश के तमाम हिस्सों में बाढ़ का कहर है. लेकिन आंध्र प्रदेश की नायडू सरकार बाढ़ के बाद निकल आए सांपों से काफी परेशान है. इसीलिए बड़े पैमाने पर 'सर्प यज्ञ' कराने का ऐलान किया गया है। आंध्र प्रदेश की नायडू सरकार विषधरों से इस कदर परेशान है कि अंधविश्वास की जद में चली गई है. हालांकि, सरकार अस्पतालों में Anti-venom डोज के साथ होम्योपैथ की दवाएं भी मुहैया करा रही है. साथ ही सर्प दंश के शिकार लोगों के लिए 2000 रुपये आर्थिक सहयोग का भी एलान किया है। विजयवाड़ा से 70 किलोमीटर दूर मोपी देवी मंदिर में सर्प यज्ञ आयोजित किया गया है. राहु केतू दोष दूर करने की पहचान रखने वाले इस मंदिर में 15 पुजारी सरकारी 'सर्प दोष' यज्ञ कराएंगे। आंध्र प्रदेश में बारिश और बाढ़ के बाद सर्पदंश की घटनाओं में बेतहाशा इजाफा हुआ है. खासकर कृष्णा जिले में. अस्पताल में काफी संख्या में सर्पदंश के शिकार मरीज भर्ती हैं। कृष्णा जिले में 144 लोग सर्प दंश के शिकार हुए हैं. सैलाब में आए विषैले सांप घरों में कहीं भी ठौर बना ले रहे हैं. जरा सी चूक पर लोगों को डस लेते हैं। अवनिगड्डा और गन्नवारम में तो दो लोगों की सर्पदंश से मौत भी हो चुकी है. लेकिन ज्यादातर लोगों को डॉक्टरों ने इलाज कर बचा लिया. हालत तो ये है कि एक दिन में एक डॉक्टर ने सर्प दंश के शिकार 22 लोगों का इलाज किया।

<