By : Ashish Awasthi   |   04-11-2018



दिवाली में स्वास्थ्य के प्रति सतर्कता जरूरी, डॉ वेद के अनुसार बरतें यह सावधानियां


त्योहारों से पहले लोगों को जागरुक करने की दिशा में राजधानी के किंग जार्ज मेडिकल कॉलेज के डिपार्टमेंट ऑफ पल्मोनरी एण्ड क्रिटिकल केयर मेडिसिन ने सराहनीय कदम उठाते हुए एडवाइजरी जारी की। इसका मुख्य उद्देश्य दिवाली के मौके पर लोगों को वायु प्रदूषण, ध्वनि प्रदूषण और मिलावटी खाद्य पदार्थों से स्वास्थ्य पर पड़ने वाले असर के बारे में जागरूक करना औऱ बचाव के बारे में जानकारी देना था। 


इस दौरान डॉ वेद प्रकाश ने बताया कि दिवाली भले ही मिठाइयों, पटाखों और रोशनी का त्योहार है, लेकिन श्वास की बीमारियों(दमा औऱ सीओपीडी) से पीड़ित लोगों के लिए यह परेशानी का कारण बन जाता है। इन दिनों में पीड़ितों को सांस फूलना, छाती में जकड़न, सीटी बजना औऱ खांसी की समस्या हो जाती है। दीवाली के समय बदलते मौसम और वायु में फैले सूक्ष्म कणों के कारण अस्पतालों में रोगियों की संख्या में अचानक इजाफा हो जाता है। आलाम यह होता है कि ओपीडी में इस समय मरीजों की संख्या में दो गुना तक का इजाफा होता है। लिहाजा लोगों को इस दौरान स्वास्थ्य के प्रति सतर्क रहने की जरूरत है।