By : Abhishek mishra   |   16-08-2018    |    Views : 0005395



वाजपेयी ने BJP को ऐसे सियासत में शून्य से शिखर तक पहुंचाया


पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की हालत पिछले 24 घटे से नाजुक बनी हुई है. उन्हें एम्स में फुल लाइफ सपोर्ट पर रखा गया है. सत्तापक्ष और विपक्ष के तमाम नेता वाजपेयी के दीर्घायु होने की कामना कर रहे हैं. जनसंघ, जनता पार्टी और बाद में बीजेपी की नींव रखने वाले चेहरों में से एक नाम अटल बिहारी वाजपेयी का भी है. 6 अप्रैल 1980 को बीजेपी का गठन हुआ, एक राजनीतिक दल के रूप में पहले लोकसभा चुनाव में पार्टी के खाते में महज दो सीटें ही आई थी. इसके बावजूद वाजपेयी ने हार नहीं मानी और उन्होंने कहा था, 'अंधेरा छंटेगा, सूरज निकलेगा, कमल खिलेगा.' इसी का नतीजा है कि मौजूदा समय में केंद्र की सत्ता से लेकर देश की 20 राज्यों में बीजेपी की सरकारें हैं.