By : Abhishek mishra   |   23-06-2018    |    Views : 00090



दाती महाराज के आश्रम में रहने वाली बच्चियों पर सनसनीखेज खुलासा


रेप के आरोप में फंसे दाती मदन के पाली स्थित आश्रम में रह रही बच्चियां कहां की हैं और कहां से आई हैं, इसका कोई रिकॉर्ड नहीं है। राजस्थान महिला आयोग की जांच में खुलासा हुआ है कि रजिस्टर में दर्ज जानकारियां अधूरी हैं। यहां तक की आश्रम में चल रहे स्कूल, कॉलेज का तीन साल से रजिस्ट्रेशन रिन्यू नहीं हुआ है। आयोग की अध्यक्ष सुमन शर्मा के अनुसार, उन्हें जानकारी मिली थी कि आश्रम से बच्चियां लापता हो गई हैं। पहले 600 थीं और अब 100 रह गई हैं। ऐसी जानकारी मिलने के बाद आयोग ने जांच के लिए एक टीम पाली भेजी। टीम ने जांच में पाया कि आश्रम में चल रहे स्कूल व कॉलेज के संबंध में मौजूद सेवकों ने संबंधित विभाग से रजिस्ट्रेशन रिन्यू नहीं कराया है। आयोग ने यह भी पाया कि तीन साल से बिना रजिस्ट्रेशन के शिक्षण कार्य कराया जा रहा है। जबकि बिना रजिस्ट्रेशन के गुरुकुल चलाए जाने के संबंध में 14 सितंबर, 2016 को बाल अधिकारिता विभाग ने नोटिस भेजा था। इसके बाद भी रजिस्ट्रेशन नहीं कराया गया। विभाग ने इस लापरवाही को लेकर बाल कल्याण समिति से भी जवाब मांगा था। इधर, जांच दल ने रजिस्टर देखा तो कई गड़बड़ियां सामने आईं। रजिस्टर देखकर पता ही नहीं लगाया जा सकता कि कौन सी बच्ची कहां से आई है या वह कहां की है। सुमन शर्मा ने बताया कि दाती मदन के आश्रम में 600 से अधिक बच्चियां होनी चाहिए, लेकिन कोई रिकॉर्ड ही नहीं है। रजिस्टर में केवल नाम लिखे हुए हैं। कई बच्चियों के मामलों में रजिस्टर में लिखा पिता का नाम और एफिडेविट में लिखा पिता का नाम अलग-अलग पाया गया।